Best Shayari - बेस्ट शायरी

Best Shayari - बेस्ट शायरी 

दर्द को अब दर्द होने लगा दर्द अपने गम पे
खुद रोने लगा अब हमें दर्द से दर्द नहीं लगेगा
 क्योंकि दर्द हम को छू कर खुद सोने  लगा


Best Shayari 



तुम्हें जीने में आसानी बहुत है 
तुम्हारे खून में पानी बहुत है 
कबूतर इश्क का उतरे तो
 कैसे तुम्हारी छत पर निगरानी बहुत है



ये जो तुम लफ्जों से बार-बार चोट देते हो 
 दर्द वही होता है जहां तुम रहते हो


कमाल करता है तू भी ए दिल 
उसे फुर्सत नहीं तुझे चैन नहीं


बिछड़ना मिलना तो किस्मत की बात है
 लेकिन दुआएं दे तुझे शायर बना दिया मैंने


मेरी आंखों तुम्हें रोने का सलीका 
नहीं रोज दरिया में सैलाब नहीं आते हैं


बस यही तमन्ना है बस यही तकाजा है 
एक बार आ जाए मेरे घर  कदम उनका


तुम्हारी दिल्लगी देखो हमारे दिल पर भारी 
तुम तो चल दिए हंसकर यहां बरसात  जारी है


यह चेहरे की खुशी सिर्फ तेरे इंतजार की है
 क्योंकि दिल में आज भी उम्मीद तेरे दीदार की है


दवाई बीमारों की होती है साहब 
टूटे दिलों की कोई दवा नहीं होती


सजा तो मोहब्बत करके भी भुगत रहे हैं 
तो एक  कत्ल ही बढ़ जाएगा तो क्या होगा


Best Shayari for Love 


ऐ समंदर मैं तुझसे  वाकिफ  हूं
 मगर इतना बताता हूं वो आँखे तुझ 
से ज्यादा गहरी है जिसका मैं आशिक हूं




कोई अकेला नहीं यहां हर किसी के
 पास अपनी मोहब्बत की यादें हैं


दर्द-ए-दिल आज भी है जोश ए वफा आज भी है
 जख्म खाने का मोहब्बत में मजा आज भी है


किसी की राह से खुदा की खातिर उठाकर कांटे हटा के
 पत्थर फिर उसके आगे अपनी निगाह झुका के
 रखना कमाल यह है तुम्हारा सिर्फ हवाओं पे शक गया
 होगा चिराग खुद भी जल जल के थक गया होगा



कैसे कह दूं बदले में कुछ नहीं मिला 
सबक कोई छोटी चीज तो नहीं है 
मतलबी जमाना है नफरतों का कहर है
 यह दुनिया दिखाती शहद है पिलाती जहर है
 अब परछाइयों का बोझ भी नहीं 
मुझ पर इतना सुकून है अंधेरों में



हमारे कत्ल करने की उनकी साजिश तो
 देखो गुज़रे जब करीब से तो चेहरे से पर्दा हटा लिया


तुम्हें याद है पहली मुलाकात हमारी 
अब चुभती है वो आखिरी बात तुम्हारी


मुस्कुरा के देखना  उसकी तो थी अदा 
हम बेवजह तड़प उठे और जान से गए


Best Shayari in Hindi 

जिसकी जैसी नियत है वह वैसी कहानी रखता है कोई 
परिंदों के लिए बंदूक तो कोई परिंदों के लिए पानी रखता है






जिसके मिलने से खुदा हो जाऊं ऐ 
खुदा मुझको वो  दौलत न मिले


आए कोई ऐसा कि जो हालात बदल दे 
कुछ लोग यहां खुद को खुदा मान रहे हैं


डालकर आदत बेपनाह मोहब्बत की
 अब वो कहते हैं समझा करो वक्त नहीं है



सलीका सीख लो उसकी जमीन पर चलने फिरने 
का  तकब्बुर करने वालों से वो  इज्जत छीन लेता है।


बुलंदी देर तक किस शख्स के हिस्से में रहती है 
बहुत ऊंची इमारत हर घड़ी खतरे में रहती है
 यह ऐसा कर्ज़ है जो मैं अदा कर नहीं सकता 
मैं जब तक घर नहीं लौटू मेरी मां सजदे में रहती है 
जी तो बहुत चाहता है इस कैद ए जान से निकल जाए 
हम तुम्हारी याद भी लेकिन इसी मलबे में रहती है 
अमीरी रेशम ओ कमख्वाब में नंगी नजर आई
 गरीबी शान से टाट के पर्दे में रहती है 
मैं इंसान हूं बहक जाना मेरी फितरत में शामिल है 
हवा भी उसको छूकर देर तक नशे में रहती है
 मोहब्बत में परखने  जांचने से फायदा क्या है
 कमी थोड़ी बहुत हर एक शजरे में रहती है 
ये अपने आपको तक्सीम कर लेते हैं 
सुबो में खराबी  बस यही हर मुल्क के नक्शे में रहती है


तेज आंधी में सफ़र की धूल भी ना बची 
मत पूछ कि अब मेरे दामन में क्या है


उसके नफीस हुस्न की मांगी  गई मिसाल
 हमने गुलाब रख दिए चांदी की थाल में



Best Shayari on Life 


दिल में आरजू के दिए जलते रहेंगे आंखों से मोती निकलते रहेंगे 
तुम शमा बनकर दिल में रोशनी करो हम मोम की तरह पिघलते रहेंगे



मोहब्बत का कोई इरादा तो नहीं था ऐ 
 दिलनशी  देखी जो तेरी अदा तो नीयत बदल गई

नजर नजर में उतरना कमाल होता है
  नफ़्स नफ़्स में बिखरना कमाल होता है 
बुलंदियों पे पहुंचना कोई कमाल नहीं 
बुलंदियों पे ठहरना कमाल होता है


जिसकी हंसी बहुत खूबसूरत होती है 
उसके ज़ख्म भी  काफी गहरे होते हैं


ना जाने कौनसी साजिशों के हम शिकार हो गए 
जितना दिल साफ रखा उतना ही गुनाहगार हो गए



वह मौजूद है और उनकी कमी है 
जिसे इश्क कहते हैं शायद यही है


अपने पुरखों की विरासत को संभालो वरना 
अब की बारिश ये दीवार भी गिर जाएगी


नहीं बदल सकते हम खुद को औरों के हिसाब 
से एक लिबास हमें दिया है रब ने हमारे हिसाब से


तुम्हारे शहर का मौसम बड़ा सुहाना लगे 
मैं एक शाम चुरा लूं अगर तुम्हें बुरा न
 तुम्हारे बस में अगर हो तो भूल जाओ 
तुम्हें भुलाने में शायद मुझ को जमाना लगे
 जो डूबना है तो इतना सुकून से डूबो 
की आस पास की लहरों को भी पता ना लगे
 वो फूल जो मेरे दामन से हो गए मसूब खुदा करे 
उन्हें बाजार की हवा न लगे न जाने क्या है 
किसी की उदास आंखों में वो मुंह छुपा के भी जाए
 तो बेवफा ना लगे तो इस तरह से मेरे साथ बेवफाई कर
 कि तेरे बाद मुझे कोई बेवफा ना लगे 
तुम आंखें मूंदकर भी जाओ जिंदगी कैसर 
 की एक घूंट भी मुमकिन है बद मजा न लगे


कोई नहीं याद करता वफ़ा करने वालों को 
मेरी मानो बेवफा हो जाओ जमाना याद रखेगा

Best Shayari Dosti


बहुत अंदर तक तबाही मचाता है
 वो जो आंखों से बह नहीं पाता





बरसे बगैर ही जो घटा घिर के खुल गई
 एक बेवफा का अहद-ए वफ़ा  याद आ गया

हसरतें दीदार भी क्या चीज है साहिब वो 
सामने हो तो मुसलसल देखा भी नहीं जाता


जरूरी नहीं हर गिफ्ट कोई चीज हो प्रेम परवाह और 
इज्जत भी बहुत अच्छे गिफ्ट हैं किसी को देकर तो देखो


प्यार नजरों में आना नहीं चाहिए
 रोज मिलना मिलाना नहीं चाहिए 
लोग पागल समझने लगेंगे 
तुम्हें रात दिन मुस्कुराना नहीं चाहिए
 बारिशों के इरादे खतरनाक हैं
 अब पतंगे उड़ाना नहीं चाहिए 
मैंने यह सोच कर दिया दिल 
उसे दिल किसी का दुखाना नहीं चाहिए


दिखाई कम दिया करते हैं बुनियाद के पत्थर 
जमी में जो दब गए इमारत उन्हीं पर कायम है


भीतर से कपड़ों का महकना कोई बड़ी बात नहीं 
मजा तो तब है जब आपके किरदार से  खुशबू आये

राब्ते  बता देते हैं के दिल में कितनी कद्र है
 वरना कहने को तो सभी अपने होते है


दिलों में फर्क आ जाये तो तालुकात 
निभाए नहीं जाते बल्कि घसीटे जाते है


Best Shayari in Hindi 


लफ्जों के दांत नहीं होते पर यह काट लेते हैं
 दीवारें खड़े किए बगैर हम को बांट देते हैं






Previous
Next Post »

Please do not enter any spam link in the comment box. ConversionConversion EmoticonEmoticon